खुशखबरी : अगले महीने नौकरियों की बरसात, जॉब चाहिए तो हो जाएं तैयार

खुशखबरी : अगले महीने नौकरियों की बरसात, जॉब चाहिए तो हो जाएं तैयार

कोरोना महामारी के दौरान नौकरी पर आए ऐतिहासिक संकट के बाद बेरोजगारों के लिए एक गुड न्यूज़ आई है। 9 महीने बाद पहली बार नई नौकरियों का माहौल बना है। भारतीय कॉरपरेट सेक्टर में सुधार के संकेत मिलने लगे हैं। सरकार की एजेंसियां रिकवरी के आंकड़े दिखाने लगी हैं। ऐसे में जॉब मार्केट से भी बेहद अच्छे संकेत आने लगे हैं। 10 दिनों के अंदर 2 जॉब सर्वे एजेंसियों की रिपोर्ट में अगले कुछ महीनों के अंदर नौकरियों के बड़े अवसर पैदा होने की बात कही गई है।

मैनपावर ग्रुप के जॉब आउटलुक सर्वे में देश भर के 1518 नियोक्ताओं की राय ली गई। इनमें से 72 फीसदी ने कहा कि वो फिलहाल अपने मौजूदा स्टाफ से ही अपनी कंपनियों का काम चलाने की कोशिश करेंगे, लेकिन सर्वे में कवर किए गए 24 प्रतिशत नियोक्ताओं ने कहा कि उनकी कंपनी अगली तिमाही में नई भर्ती की योजनाएं बना रही है। रोजगार के ये मौके रियल स्टेट, निर्माण, बीमा, वित्त और खनन क्षेत्रों में आने वाले हैं।

नई नौकरियों के शुभ संकेत सिर्फ एक जॉब सर्वे एजेंसी की रिपोर्ट में नहीं आए हैं। एक हफ्ते पहले एक और एजेंसी Teamlease Employment Outlook Survey की रिपोर्ट में भी नौकरियों के मोर्चे पर सुधार के दावे किए गए थे। इस सर्वे में 21 सेक्टर की 137 कंपनियों को शामिल किया गया था। 137 में से 21 कंपनियों ने कहा कि वो नई भर्तियों की तैयारी में लगी हैं। Teamlease Employment Outlook Survey की रिपोर्ट में जिन कपनियों ने नई नौकरियों का भरोसा दिया उनमें से ज्यादातर आईटी सेक्टर, हेल्थकेयर, एजुकेशन सेक्टर, बैंकिंग और बीमा सेक्टर से जुड़ी हैं। जॉब सर्वे के मुताबिक –

  • एजुकेशन सेक्टर वाली 34% कंपनियां नए रोजगार देंगी
  • आईटी सेक्टर वाली 29% कंपनियां नए रोजगार देंगी
  • टेक स्टार्टअप्स वाली 31% कंपनियां नए रोजगार देंगी
  • फाइनेंसियल सेक्टर वाली 18% कंपनियां नए रोजगार देंगी

सर्वे एजेंसी की हर रिपोर्ट के मुताबिक भारत में आर्थिक रिकवरी की शुरुआत हो चुकी है। दिसंबर तिमाही की तुलना में जनवरी तिमाही में जॉब आउटलुक में 2 फीसदी का इजाफा हुआ है। ये हालात इसलिए सुधरे हैं क्योंकि लॉकडाउन खत्म होने के बाद आर्थिक रिकवरी की रफ्तार अब तेज़ी पकड़ने लगी है। सकारात्मक रुझाने आने लगे हैं। बस कुछ दिनों का इंतज़ार और देश में आ सकती है नौकरियों के मौकों की बहार।

thenewslede