बीरभूम में बीजेपी पर बरसीं ममता, कहा जो गांधी का सम्मान नहीं करते वो सोनार बांग्ला की बात करते हैं

बीरभूम में बीजेपी पर बरसीं ममता, कहा जो गांधी का सम्मान नहीं करते वो सोनार बांग्ला की बात करते हैं

पश्चिम बंगाल के बीरभूम में अमित शाह की रैली से ठीक 8 दिन बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपना शक्ति प्रदर्शन किया। पहले चार किलोमीटर लंबा पैदल मार्च और फिर बाद में रैली करके दीदी ने बता दिया कि बंगाल में बीजेपी की राह आसान नहीं होने वाली। पैदल मार्च में जुटी भारी भीड़ से उत्साहित ममता ने बीजेपी पर चुन-चुनकर निशाना साधा। ममता ने अपने भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर गृहमंत्री अमित शाह पर तीखे वार किए। बीजेपी पर हमला करते हुए ममता ने कहा कि उन्हें बंगाल की सभ्यता और संस्कृति के बारे में कुछ भी नहीं पता। उन्हें ये भी नहीं पता कि रवीन्द्रनाथ का जन्म शांति निकेतन में हुआ था या नहीं।

ममता बैनर्जी ने बेहद ही तल्ख लहज़े में कहा कि गांधी जी , विवेकानंद का सम्मान नहीं करने वाले लोग गुरू रवीन्द्रनाथ का क्या सम्मान करेंगे। अमित शाह के भाषण का ज़िक्र करते हुए ममता ने कहा कि बंगाल पहले से ही सोनार बांग्ला है, वो इसे क्या सोनार बांग्ला बनाएंगे। ममता ने बीजेपी नेताओं के आदिवासियों के घर खाना खाने पर भी सवाल दागे। ममता ने कहा कि बीजेपी के बड़े नेता जब भी बंगाल आते हैं, किसी आदिवासी के यहां भोजन करने पहुंच जाते हैं, लेकिन खाना वहां फाइव स्टार होटल से आता है।

बंगाल में बीजेपी नेताओँ के आक्रामक प्रचार पर ममता ने कहा कि बंगाल में चुनाव आने वाले हैं, इसलिए वो यहां चक्कर काट रहे हैं। बाकी दिनों में वो यहा दिखाई भी नहीं देंगे। ममता ने रैली में भारी भीड़ की ओर इशारा करते हुए कहा कि उनकी रैली में झंडे ज्यादा होते हैं, लेकिन हमारी रैली में झंडे कम, लोग ज्यादा होते हैं। बंगाली अस्मिता का कार्ड का खेलते हुए ममता ने कहा कि इस बार टीएमसी बंगाल को बचाने की लड़ाई लड़ेगी। हम किसी भी कीमत पर बंगाल को हाईजैक नहीं होने देंगे।

ममता ने बीजेपी पर धर्म के नाम पर विभाजन की राजनीति का भी आरोप लगाया। ममता ने कहा कि बीजेपी बाहर के लोगों को लाकर विश्वभारती यूनिवर्सिटी में दंगा करवाना चाहती है। उन्होंने आमर्त्य सेन का भी अपमान किया। ममता ने बीजेपी को चेताया कि टीएमसी राज्य की जनता का अपमान किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगी।

ममता की रैली में शामिल हुए बाउल गायक

बोलपुर में ममता की रैली में एक दिलचस्प नज़ारा देखने को मिला। अमित शाह ने बंगाल दौरे में जिस बाउल गायक बासुदेव दास के घर खाना खाया था वो ममता की रैली में शामिल हुए। उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह को जो गाना सुनाया था, वही गाना ममता के कार्यक्रम में भी सुनाया। हालांकि बासुदेव दास ने कहा कि ममता दीदी और अमित शाह दोनों ही उनके दिल के करीब हैं।

बता दें पश्चिम बंगाल में अगले साल अप्रैल मई में चुनाव होने वाले हैं। इसलिए राज्य में सियासी पारा अपने चरम पर है। जैसे जैसे चुनाव नज़दीक आते जा रहे हैं बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस में ज़ुबानी जंग भी तेज़ होती जा रही है। पहले अमित शाह ने टीएमसी पर चुन-चुनकर तीर दागे। अब जवाब में ममता भी तीखे हमले कर रही हैं।

thenewslede

Related articles