कंगना रनौत की बॉम्बे हाईकोर्ट में बड़ी जीत, दफ्तर तोड़ने का बीएमसी को देना होगा ज़ुर्माना

कंगना रनौत की बॉम्बे हाईकोर्ट में बड़ी जीत, दफ्तर तोड़ने का बीएमसी को देना होगा ज़ुर्माना

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत के बंगले में तोड़फोड़ मामले में बीएमसी को बॉम्बे हाईकोर्ट से तगड़ा झटका लगा है। हाईकोर्ट ने बीएमसी का नोटिस रद्द करते हुए उसे कंगना के बंगले में तोड़फोड़ से हुए नुकसान की भरपाई करने का आदेश दिया है। हाईकोर्ट ने कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि बीएमसी ने अपने अधिकारों को दुरुपयोग करते हुए बंगले में तोड़फोड़ की है।

कोर्ट ने माना कि तोड़फोड़ की कार्रवाई कंगना को धमकाने के मकसद से की गई थी। साथ ही कोर्ट ने एक स्वतंत्र एजेंसी से बंगले में हुए नुकसान का मूल्यांकन कराने और उसकी रिपोर्ट सौंपने का भी आदेश दिया है। कोर्ट ने ये भी कहा कि मूल्यांकन की जानकारी कंगना और बीएमसी दोनों को होनी चाहिए। नुकसान की भरपाई के लिए एजेंसी की रिपोर्ट आने के बाद हाईकोर्ट अपना फैसला सुनाएगा।

कंगना ने कहा-लोकतंत्र की जीत हुई

कंगना रनौत ने बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले पर खुशी जताई है। उन्होंने इसे लोकतंत्र की जीत बताते हुए कहा कि जब कोई व्यक्ति सरकार के खिलाफ खड़ा होता है और जीत हासिल करता है, तो वो व्यक्ति की जीत नहीं है, बल्कि ये लोकतंत्र की जीत है। आप सभी को धन्यवाद जिन्होंने मुझे हिम्मत दी और उन लोगों को भी धन्यवाद जो मेरे टूटे सपनों पर हंसे। इसका एकमात्र कारण है कि आप खलनायक की भूमिका निभाते हैं, इसलिए मैं हीरो हो सकती हूं।

बता दें कंगना रनौत के पाली हिल बंगले पर बीएमसी ने नोटिस जारी किया था और 24 घंटे के भीतर ही दफ्तर में तोड़फोड़ कर दी थी। बीएमसी की इस कार्रवाई के खिलाफ कंगना रनौत ने बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया था और इस कार्रवाई को अवैध बताया था। बीएमसी का आरोप था कि कंगना ने बंगले में बाथरूम और दफ्तर का निर्माण नक्शे के मुताबिक़ नहीं किया था।

thenewslede