भारत में अगले महीने तक मिल जाएगी कोरोना वैक्सीन, एम्स डायरेक्टर ने किया बड़ा एलान

भारत में अगले महीने तक मिल जाएगी कोरोना वैक्सीन, एम्स डायरेक्टर ने किया बड़ा एलान

कोरोना महामारी की वैक्सीन का इंतज़ार कर रहे देशवासियों के लिए दिल्ली के एम्स से आज एक अच्छी ख़बर आई। एम्स के डायरेक्टर डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने उम्मीद जताई है कि दिसंबर के अंत या जनवरी की शुरुआत में भारत में वैक्सीन को रेगुलेटरी अप्रूवल मिल सकती है।

गुलेरिया के मुताबिक इस वक्त भारत में कोविड-19 की 6 वैक्सीन पर काम चल रहा है। इनमें से 2 वैक्सीन पर काम अंतिम चरण में है। अगले तीन-चीर हफ्तों में इमरजेंसी केस में वैक्सीन के इस्तेमाल को इजाज़त मिल सकती है। इससे कोरोना के उन मरीजों को फायदा मिल सकता है जिनकी जान को ख़तरा ज्यादा है। रणदीप गुलेरिया देश में कोरोना पर बनी टास्क फोर्स के महत्वपूर्ण सदस्य हैं, लिहाजा उनके बयान का काफी महत्व है।

AIIMS के डायरेक्टर के मुताबिक देश में अभी तक तकरीबन 80 हज़ार वोलंटियर्स को वैक्सीन दी जा चुकी है। वैक्सीन लेने वाले स्वंयसेवकों में से किसी पर भी वैक्सीन का कोई ग़लत असर नहीं पड़ा है। केंद्र सरकार देश की राज्य सरकारों के साथ मिलकर सार्वजनिक टीकाकरण की रणनीति बनाने में लगी है। वैक्सीन के स्टोरेज का इंतज़ाम करना, सीरिंज उपलब्ध करना जैसे कई जरूरी कामों पर युद्ध स्तर पर प्रयास चल रहे हैं। शुरुआत में सबके लिए वैक्सीन उपलब्ध नहीं हो पाएगी। बुजुर्गों, फ्रंट लाइन स्वास्थ्य कर्मचारियों, कोरोना वॉरियर्स को वैक्सीन आने पर प्राथमिकता दी जा सकती है। देश में कोरोना मरीजों की संख्या में गिरावट आ रही है। इससे भी अगले कुछ महीनों में कोरोना पर कंट्रोल पाने में काफी मदद मिलेगी।

ब्रिटेन कोरोना वैक्सीन का इस्तेमाल करने वाला दुनिया का पहला देश बन गया है। ब्रिटेन में अगले हफ्ते फाइजर कंपनी का टीका दिया जाएगा। सबसे पहले उन लोगों को वैक्सीन दी जाएगी, जिनको मौत का ख़तरा सबसे ज्यादा है। सूत्रों के मुताबिक फाइजर कंपनी से वैक्सीन के मसले पर भारत की भी बातचीत चल रही थी, लेकिन वैक्सीन की कीमतों को लेकर बात नहीं बन सकी। लिहाजा, अब देश में बन रही वैक्सीन पर ही ज्यादा जोर दिया जा रहा है।

About Post Author

thenewslede

Related articles