किसानों के साथ कई मुद्दों पर सहमति, 5 दिसंबर को फिर चर्चा, कृषि मंत्री बोले MSP कभी खत्म नहीं होगा

किसानों के साथ कई मुद्दों पर सहमति, 5 दिसंबर को फिर चर्चा, कृषि मंत्री बोले MSP कभी खत्म नहीं होगा

कृषि कानून को लेकर किसान यूनियन और सरकार के बीच चौथे दौर की बातचीत में कई मुद्दों पर सहमति बनती दिख रही है। दिल्ली के विज्ञान भवन में करीब साढे सात घंटे के मंथन में बातचीत बेनतीजा रही, लेकिन सरकार ने माना कि कई मुद्दों पर किसानों की चिंता जायज़ है। अब शनिवार 5 दिसंबर को सरकार किसान यूनियन के साथ पांचवें दौर की मीटिंग के लिए एक बार फिर बैठेगी।

मीटिंग के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि किसान यूनियन के साथ बैठक सौहार्दपूर्ण माहौल में हुई। किसानों को कुछ मुद्दों पर जो चिंता है, उसे खत्म करने के लिए सरकार पूरी कोशिश करेगी। कृषि मंत्री ने कहा APMS को मज़बूत बनाने पर भी सरकार विचार करेगी, उन्होंने भरोसा दिया कि MSP में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं होगा। साथ ही सरकार छोटे किसानों की ज़मीन को लेकर भी चिंताएं दूर करने के लिए तैयार है।

कृषि मंत्री ने कानूनी संरक्षण को लेकर किसानों की चिंता पर भरोसा दिया। नरेंद्र तोमर ने कहा कि किसी विवाद को खत्म करने के लिए एसडीएम कोर्ट का प्रावधान है, लेकिन अगर किसान चाहते हैं कि मामलों का निपटारा ज़िला अदालतों में हो, तो सरकार इस बिंदु पर भी विस्तार से चर्चा के लिए तैयार है।

सरकार ने किसानों से बातचीत में मंडी समिति खत्म करने के बजाय उसे और मज़बूत करने का भी भरोसा दिया।

सरकार से बातचीत पर किसान यूनियन का भी बयान आया है। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि एमएसपी को लेकर सरकार की ओर से सकारात्मक संकेत आए हैं। लेकिन किसानों की मुख्य मांग कृषि कानून को वापस लेने की है। हालांकि उन्होंने भरोसा जताया कि पांच दिसंबर की बातचीत में सकारात्मक निष्कर्ष निकल सकता है।

बता दें आज की बैठक के बाद किसानों ने साफ किया है कि फिलहाल उनका आंदोलन जारी रहेगा और इसपर फैसला शनिवार की बैठक के बाद ही लिया जाएगा।

About Post Author

thenewslede